Sunday, February 21, 2010

क्या यह सिर्फ़ संयोग है या “कुछ और”? (एक माइक्रो पोस्ट)

पीएम अब्दुल कलाम, एमए फ़ैयाज़, ईएस मोहम्मद कबीर, वीई अब्दुल गफ़ूर, पीए राशिया, एमए कादर, पीके शकीला, एम साजिद, केके रज़िया, ईएस अशरफ़, वीके रफ़ीक, पीएम मोहम्मद हसन, मोहम्मद सवद, एमए सोहराब, टीपी साजिद और वीके मोहम्मद यूसुफ़।

ना, ना, ना, ना… इन नामों को पढ़कर कोई गलत धारणा मत बनाईये, न ही ये सारे नाम मुस्लिम लीग के कार्यकर्ताओं अथवा पदाधिकारियों के हैं, न ही यह नाम राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी द्वारा पकड़े गये आतंकवादियों के हैं… बल्कि ये सारे नाम माननीय वकीलों के हैं। जी हाँ, केन्द्र सरकार द्वारा केरल हाईकोर्ट में अपने प्रतिनिधि के रूप में नामित किये गये पैनल के सभी 16 एडवोकेट मुसलमान हैं, और यह सभी महानुभाव अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल श्री टीपीएम इब्राहीम खान के सहायक के रूप में कार्य करेंगे।

यदि यह सिर्फ़ संयोग है, कि केन्द्र सरकार को वकीलों की पूरी पैनल में एक भी हिन्दू या ईसाई एडवोकेट नहीं मिला, तब तो यह वाकई गजब का संयोग है, और यदि यह संयोग नहीं “कुछ और” है, तब तो सच्चर साहब और रंगनाथ मिश्र जी बेहद खुश होंगे…। वैसे आपकी जानकारी के लिये बता दूं कि केरल हाईकोर्ट में अब्दुल नासेर मदनी से सम्बन्धित कई संवेदनशील मामले चल रहे हैं।

How would you like to get $10 free? Nothing to buy! Visit GeoString.com

प्रधानमंत्री जी का “संसाधनों पर पहला हक” वाला बयान तो सुना है, “पूरा हक” के बारे में मुझे नहीं पता था। वर्तमान गंदले माहौल में हमारी रक्षा सेनायें और न्यायपालिका यही दो स्तम्भ बचे हैं जिन पर थोड़ा भरोसा है, क्या अब “सेकुलरिज़्म” इन्हें भी…
===========

(मामला न्यायपालिका से जुड़ा है इसलिये बेहद सभ्य भाषा में बात रखने की कोशिश की है, आप लोग भी टिप्पणियों में “श्री”, “जी”, “माननीय”, “महोदय”, “श्रीमान” आदि का भरपूर उपयोग करें…)

27 comments:

Vivek Rastogi said...

१ माननीय और उनके १६ श्री, पता नहीं सरकार क्या चाहती है।

महाशक्ति said...

मिल गया सौ प्रतिशत आराक्षण

संजय तिवारी said...

संयोग तो बिल्कुल नहीं लग रहा है.

उम्दा सोच said...

देश में जो न हो कम है है सबको पता है भेड़ो को जैसे हाको हक़ जायेंगे सच और सेकुलर के नाम पर बहुसंख्याई की मारो तो सच्चा सेकुलर कहलायेगा खास कर अगर वो बहुसंख्यक वर्ग से हो या अगर कही मीडिया से हो तो मानो सोने पे सुहागा मारने का फ्री लाइसेंस और पीछे से वाह वाह पक्की .
माई नेम इज खान एंड आई एम् नाट टेररिस्ट ... वह वाह !!
माई नेम इज सौरभ ......... बस आगे आप समझ लो
@^%^&%#&(@@&((*&^#%&^%&^#*&^#@!&&^@!(ओ@()

उम्दा सोच said...

कसाब और सालेम जैसो का केस जल्द केरल स्थान्तरित होगा शायद इसी की तैयारी है !!! और देश को दो झुनझुना सेकुलर बैठ कर बजाये !!!

dhiru singh {धीरू सिंह} said...

इसमे हर्ज ही क्या है .......आगे तो सारे देश मे यही होना है . अभी तो ली अगंडाई है ........

महफूज़ अली said...

कुछ और ही लगता है......

Ratan Singh Shekhawat said...

संयोग तो बिल्कुल नहीं लग रहा है कुछ और ही लगता है...................

HINDU TIGERS said...

देस के इस्लामीकरण की अगली कड़ी है
जागो हिन्दू जागो

Arvind Mishra said...

केरल भारत में कहाँ है सुरेश भाई -वह तो पकिस्तान शासित हो गया है न ! कभी गये हैं वहां ?

परमजीत बाली said...
This comment has been removed by the author.
AlbelaKhatri.com said...

shri shri shri

ek pe solha

free free free


ganghi ke bandar

three three trhree


jai jo shri 420 ki !

डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर said...

हम तो इतना ही कहेंगे कि मानीय 786
जय हिन्द, जय बुन्देलखण्ड

डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर said...

हम तो इतना ही कहेंगे कि मानीय 786
जय हिन्द, जय बुन्देलखण्ड

मसिजीवी said...

“श्री”, “जी”, “माननीय”, “महोदय”, “श्रीमान”

जै जै

Anil Pusadkar said...

मैं धीरू से सहमत हूं।

सतीश सक्सेना जी ने निर्देशानुसार,सुमन जी से साभार,



nice।

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

यही असली सेकुलरिज्म है. श्रीमान पंकज चतुर्वेदी जी ने भी नये तथ्य खोजे हैं पुणे बम विस्फोट के सिलसिले में. बस इसी तरह से दो शासनकाल और उद्देश्य पूरा.

Shiv Kumar Mishra said...

कुछ संयोग बड़े धाँसू होते हैं.

संजय बेंगाणी said...

अति माननीय न्यायालय जी श्री ने आदेश जारी किये है कि अहमदाबाद विस्फोट में पकड़े गए लोगों के केस गुजरात से हटा लिये जाएं, सम्भव है कैदी भी यहाँ से हटा लिये जाय. यहाँ "न्याय"!! नहीं होगा. तो न्याय कहाँ होगा. सम्भवतः यह न्याय करने की तैयारी चल रही है. जय हो!


सौ प्रतिशत आरक्षण मुबारक हो.

प्यारे पड़्सी के यहाँ "अल्पसंख्यकों" के सर धड़ से अलग हो रहें है. शाहरूख की फिल्म वहाँ रिलिज नहीं हुई दिखती है.

ज्ञानदत्त पाण्डेय Gyandutt Pandey said...

ये सेकुलर का मामला है! :)

Dr. shyam gupta said...

जय x श्री श्री x माननीय x 108 x infinite +यह आदेश+ सेक्यूलर देश= भोली भाली निरीह जनता ??===१+१५.

त्यागी said...

very very serious issue. and thanks for focusing on it.
food for thought for you.
that media convinently create news (BAD) for other then the congress.
and when very serious incident occured in the country immiediatly media make hype of STUPID type of news espcially hindi news channel.
Keep watching you will get the same sense in next (while bad thing happen with any congress man or govt.)
regards
http://parshuram27.blogspot.com/

योगेन्द्र सिंह शेखावत said...

केरल से शास्त्री जी की कमेन्ट का भी इंतज़ार कर रहा हूँ | शायद वे कुछ और खुलासा करें इस बारे में |

Common Hindu said...

Hello Blogger Friend,

Your excellent post has been back-linked in
http://hinduonline.blogspot.com/

- a blog for Daily Posts, News, Views Compilation by a Common Hindu
- Hindu Online.

Nakul Garg said...

abhi toh shuruaat hai..

aage aage dekhiye hota hai.....

shayad keral muslim bahul rajya hai.

agar aesa hai toh wahan ke alpasankhyakon ko reservation kyon nai bhai??

ab sarkar kahan hai?????

dhong ka nanga aisa nanga nach ab kewal bharat mein hi dekha ja sakega.....

ur hum toh kewal yahi kahte rah jaenge.......


BHARAT MATA KI JAI /

सौरभ आत्रेय said...

आगे-आगे देखिये होता है क्या? पुणे आतंकी बोम्ब-विस्फोट में भी इन सेकुलरों ने अभिनव भारत का नाम लेना शुरू कर दिया है.अब तो ये एक कदम और आगे निकल गए हैं क्योंकि अब ये इस्लामिक आतंकी हमलों का आरोप भी हम हिंदुओं पर मढ़ने लगे हैं. और आगे ये घरों से निकाल-२ कर मारेंगे , माताओं-बहनों कि इज्जत को तार-तार- करेंगे और इल्जाम भी हम पर ही लगाएंगे क्योंकि इनके साथ इनका पूरे मीडिया का भांड-तंत्र साथ है जो सत्य को असत्य सिद्ध करने में बड़ी तत्परता से लग जाता है. मुझे तो आने वाले विनाशकारी समय का आभास होने लगा है.

nitin tyagi said...

ये देश जब तक विकसित नहीं होगा जब तक ये कांग्रेस सत्ता में है |