Monday, July 9, 2007

मेरी १०० वीं पोस्ट

भाईयों और बहनों, ब्लॉगिंग शुरु करने के ठीक साढे़ पाँच माह पूरे होने पर अपनी सौवीं पोस्ट लिखते हुए बेहद खुशी हो रही है । इस संक्षिप्त यात्रा (अभी तो बहुत सारा लिखना है..) में बहुत-बहुत मजा आया, कई नये दोस्त मिले, काफ़ी कुछ सीखने को मिला, गालियाँ भी खाईं, तारीफ़ भी पाई, सहमति-असहमति के दौर चले, व्यक्तिगत ई-मेल पर भी कई मित्रों / चिंतकों ने कई तरह की गोलाबारी की, लेकिन चूँकि यह कोई दुश्मनी वाली बात नहीं थी, इसलिये मीठा-मीठा गप और कड़वा-कड़वा थू करते आगे बढ चला, क्योंकि असहमत होने वाले से भी और कुछ नहीं तो एक अलग दृष्टिकोण सीखने को मिलता है.. जब ब्लॉगिंग शुरु की थी उससे कुछ समय पहले ही "बरहा" के बारे में भी पता चला था...महसूस हुआ कि हिन्दी के लिये लाखों लोग कितना-कितना काम कर रहे हैं... फ़िर रवि रतलामी, श्रीश शर्मा, सागर नाहर, बेंगाणी बन्धुओं, पंगेबाज, उड़न तश्तरी, संजीत त्रिपाठी, ममता जी, शानू जी, मैथिली जी आदि कई मित्रों ने कई प्रकार के मार्गदर्शन दिये, शुभकामनायें दीं, काफ़ी सारे नये मित्र बने, कई बहसबाजियाँ हुईं, सागर भाई से हैदराबाद में मिलना हुआ, फ़िल्मों और फ़िल्मी गीतों के प्रति दीवानगी के चलते यूनुस भाई से भी मित्रता हुई, कई नये सॉफ़्टवेयर पता चले, गरज कि नया-नया सीखता ही गया.. और आगे भी सीखता ही रहूँगा..दुआ माँगता हूँ कि आगे भी ऐसा ही लिखता रहूँ.. और दुआ का पुछल्ला यह भी कि मित्रों में मुझे झेलने की ताकत बरकरार रहे.. तमाम मुस्कुराहटों के साथ... आमीन

18 comments:

Udan Tashtari said...

वाह, तो आप भी शतकवीर हो लिये. बहुत बहुत बधाई और ऐसे अनेकों शतक लगायें, इस हेतु बधाईयाँ.

Shrish said...

बहुत-बहुत बधाई शतक पूरा करने पर, अब आप भी सीनियर हो गए। :)

ईश्वर करे आप इसी तरह अपनी लेखनी से हमारा मनोरंजर और ज्ञानवर्धन करते रहें।

"हिन्दी के लिये लाखों लोग कितना-कितना काम कर रहे हैं|"

काश लाखों लोग काम करते तो आज हिन्दी का मुकाम ही कुछ और होता, काम करने वालों की संख्या बस कुछ दहाई-तिहाई के अंकों में ही है।

maithily said...

अरे सुरेश जी, बधाई, आपने सैंकड़ा ठोक डाला.
मार्गदर्शन तो आप हमारा करते रहे हैं

संजय बेंगाणी said...

बहुत बहुत बधाई.
यात्रा तो अभी शुरू हुई है...

अरुण said...

बधाईया ढेर सारी ,बस एक गाने की कंमी खल रही है :)कल जरुर सुनवा देना

रवि said...

शतकीय चिट्ठा पारी के लिए बधाई!

परमजीत बाली said...

शतक पूरा करने की बधाई।

अनूप शुक्ल said...

वाह सैकड़ा पीटने पर बधाई!

सत्येंद्र प्रसाद श्रीवास्तव said...

सेंचुरी पर बधाई। क्रीज पर जमे रहिए

mamta said...

सुरेश जी शतक पूरा करने की बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनायें ।

जोगलिखी संजय पटेल की said...

चलते जाएं सुरेश भाई..बकौल..बशीर बद्र साहब..जब से चला हूँ मेरी मंज़िल पर नज़र है...आँखों ने कभी मील का पत्थर नहीं देखा.एक दिन उज्जैन भगवान महाकालेश्वर और शिप्रा के साथ साथ ब्लाँगर सुरेश चिपलूणकर के लियी भी जाना जाए....मंगलकामनाए.

Divine India said...

शतकीय प्रहार पर बधाई स्वीकार करें…।

Pratik said...

सैंकड़ा जमाने पर हार्दिक बधाई। उम्मीद है आप यूँ ही दनादन लिखते रहेंगे।

यूनुस said...

मुबारक हो सुरेश जी अच्‍छा लगा ये जानकर कि आपने शतकीय पारी खेली है, शतक पूरा हुआ अब बिंदास बैटिंग कीजिये ।

Rajesh Roshan said...

सैंकड़ा जमाने पर हार्दिक बधाई।

Sagar Chand Nahar said...

सौवीं पोस्ट पर हार्दिक बधाई

soniratna said...

दुआ है ये सफर खुशगवार हो
और ऐसे शतक कई बार हो।

उन्मुक्त said...

सैकड़ पर बधाई।