Saturday, May 5, 2007

कुछ मजेदार फ़ोटो (It happens only in India)

भाईयों
आज ब्लोग लिखने का समय ही नहीं मिला, और नारद पर अपना नाम देखने की बहुतों की तरह मेरी भी "खुजली" है, तो उस खुजली ने जोर मारा, और कुछ नहीं मिला तो ये कुछ फ़ोटो आप लोगों के लिये... (कम से कम दो दिन तक नारद पर थोबडा दिखता रहेगा)..






अब देखूँ कैसे लोग दाढी में तिनका ढूँढते हैं ....


















क्या करें "पापी पेट का सवाल है"... जो काम नेताओं को करना चाहिये वह हम कर रहे हैं...








कौन कहता है टेक्नोलॉजी के जमाने में बैलगाडी काम की नहीं रही ?









जब मेरा ब्लोग करोडों डालर कमाने लगेगा तब बिल गेट्स यही काम करेगा...













येई..पीसी लेलो, पीसी.. बढिया, ताजा पीसी ले लो बाबू...













अभी तो छत खाली है, अगले स्टेशन पर वो भी...खुली हवा में बिना टिकट, और क्या चाहिये...










हाँ, हलो.. इस कुम्भ में तो कोई खास धन्धा नहीं हुआ, अब उज्जैन में देखते हैं..मोबाईल रीचार्ज जरूर करवा देना बच्चा..









और सबसे अन्त में हमारे प्यारे "चाचा नेहरू"...







(कितने लोग जानते हैं कि नेहरू "चेन स्मोकर" थे ?)





बस अब और कुछ फ़ोटो अगले ब्लोग में (जिस दिन लिखने का समय नहीं होगा, और छपास की खुजली तेज होगी)...

5 comments:

अरुण said...

भाई इसके नीचे "सिगरेट पीना और महिलाओ को पिलाना स्वासथ्य के लिये हानी कारक है लिख दो
भगवान करे ऐसी खुजली तुमहे दिन मे दो बार उठे

chuntan said...

लगता है कि बिल गेट्स अभी पीसी बेच रहा है और कल चाय बेचेगा नही तो बैलगाडी पर डिश टीवी बेचेगा, अगर वो भी नही कर पाया तो जमीन में खोपडी गाड्कर पडा रहेगा और जब वहां से निकलेगा तो उसकी दाढी इतनी लम्बी होगी कि नेहरू जी उसे सिगरेट से जला कर उसमें तिनका ढुंढेंगें।

Shrish said...

अंतिम चित्र विशेष मजेदार रहा। दूसरा चित्र दहला देने वाला है। बहुत शानदार कहाँ से खोजकर लाते हैं आप इतने बढ़िया बढ़िया चित्र।

ashish said...

kya baat hai bhai jaan .....tum to cha gaye ho.....

Anonymous said...

Suresh Bhai yeh Chachaa neharu ji ke saath me jo " CHAACHI"hain,unake bareme bhi thodi khaas janakaari dijiyegaa.lagtaa hain kafi MADHUR sambandh rahe honge.