Tuesday, February 27, 2007

ऑफ़िशियल प्रेम पत्र (Official Love Letter)

प्रिय सारिका,
आपको यह सूचित करते हुए हमें अत्यंत हर्ष होता है कि मैं दिनांक १४ फ़रवरी दोपहर १.०० बजे से आपके प्यार में गिरफ़्तार हो गया हूँ । संयोगवश यह दिन महान संत, विचारक एवं पथप्रदर्शक श्री श्री वेलेंटाईन बाबा से भी जुडा़ हुआ है । आपके संभावित प्रेमी के पद हेतु अपने-आपको प्रस्तुत करने में मुझे बेहद खुशी हो रही है । आपको सूचित किया जाता है कि हमारा प्यार प्रारंभ में तीन महीने के लिये प्रोबेशन पर रहेगा, एवं आपके "परफ़ॉर्मेंस" के आधार पर भविष्य में आपको स्थायी किये जाने पर विचार किया जायेगा । तीन महीने के प्रोबेशन पीरियड की समाप्ति के पश्चात हमारे जिस रिश्ते की शुरुआत होगी उसमें "बोनस" एवं विभिन्न मूल्यांकनों के पश्चात आपको प्रेमिका से पत्नी का "प्रमोशन" दिया जायेगा । इस दौरान होने वाले कॉफ़ी हाऊस और फ़िल्मों का खर्च दोनों में बराबर-बराबर बाँटा जायेगा । आपके प्रमोशन के बाद तमाम खर्चे मेरे द्वारा उठाये जायेंगे ।
अतः अनुरोध किया जाता है कि यदि यह प्रस्ताव आपको उचित लगता है, तो कृपया पत्र प्राप्ति के १० दिनों के अन्दर सूचित करें, अन्यथा यह प्रस्ताव स्वतः रद्द समझा जायेगा एवं यह 'कॉल लेटर' किसी अन्य योग्य उम्मीदवार को प्रेषित कर दिया जायेगा । आप चाहें तो यह प्रस्ताव अपनी छोटी बहन को भी प्रेषित कर सकती हैं ।
सधन्यवाद, अनुकूल उत्तर की आशा में......
कई जन्मों से तुम्हारा
सुरेश

2 comments:

Shrish said...

एकदम सही पत्र लिखा जी सब बातें पहले ही साफ कर दीं। बहुत खूब। :)

बजार वाला said...

कसम से क्या चिठ्ठी है महाराज , लेकिन का तो कोई सवाल ही पैदा नही कर पा रहे हैं हम .. अरे कभी तो हमे लेकिन पैदा करने का मौक़ा दे दिया कीजिए .. बाक़ी श्री श्री वैलेंटाइन बाबा की जय तो हम भी करते हैं ...